Sunday, June 16, 2024

Kawardha Incident: गोद लेने पर छत्तीसगढ़ में सियासत, कांग्रेस ने कहा गोद लेने वालों की संपत्ति में भी मिले बच्चों को अधिकार

रायपुर : छत्तीसगढ़ में 24 बैगा आदिवासी बच्चों को गोद लेने के मामले पर राजनीति शुरू हो चुकी है. इस मामले में कांग्रेस की तरफ से बड़ा बयान सामने आया है। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि जिस शख्स ने इन मासूमों को गोद लिया है उसकी संपत्ति में भी इन बच्चों को अधिकार मिलनी चाहिए. दरअसल, बता दें कि 20 मई को कवर्धा में सड़क हादसे में 19 आदिवासियों की जान चली गई थी. उसके बाद भाजपा विधायक भावना बोहरा ने मृत लोगों के परिजनों से मिलकर उन्हें ढांढस दिया था. वहीं घटना के बाद बीजेपी विधायक बोहरा ने अनाथ बच्चों को गोद लिया था. उन्होंने उनकी शिक्षा, रोजगार से विवाह तक कि सारी जिम्मेदारी उठाने का निर्णय लिया था.

मोहम्मद अकबर ने किए कई सवाल

इस मामले पर अब प्रदेश के पूर्व मंत्री मोहम्मद अकबर ने सवाल खड़े किए हैं. अकबर ने सवाल करते हुए कहा है कि गोद लेने वाले की संपत्ति में बच्चों को अधिकार दिया जाता है. भावना बोहरा ने 24 अनाथ बच्चों को गोद लिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि बोहरा की संपत्ति में भी बच्चों का अधिकार होना चाहिए. मोहम्मद अकबर ने कानूनी प्रावधानों सूचना भी दी. इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि देश में दूसरों की बच्चों को गोद लेने के लिए ‘हिन्दु दत्तक ग्रहण और भरण- पोषण अधिनियम 1959’ लागू है. इस अधिनियम के प्रावधानों के मुताबिक गोद लेने के लिए कई कंडीशन को पूरा करना अनिवार्य है. उन्होंने कहा कि इनमें से अहम है, बच्चे और गोद लेने की आयु में कम से कम 21 साल का अन्तर अवश्य होना चाहिए.

इस मामले में क्या हो रहा है पता नहीं- अकबर

अकबर ने सवाल करते हुए आगे कहा कि अगर बेटी को गोद ले रहे हैं तो गोद लेने वाले की खुद की कोई बेटी नहीं होनी चाहिए. अगर बेटे को गोद ले रहे हैं तो गोद लेने वाले का खुद का कोई बेटा न है तो उसे गोद नहीं लिया जा सकता. ऐसे बच्चे को गोद नहीं लिया जा सकता, जिसकी उम्र 15 साल से ज्यादा हो. यह भी प्रावधान है कि जिस बच्चे को गोद लिया गया हो उसका संबंध समस्त कुटुम्बियों के साथ बंधन समाप्त हो जाता है. दत्तक कुटुंब में उसे समस्त अधिकार मिल जाएंगे. इसके बाद उन्होंने इतना कहा कि अब इस मामले में क्या होगा यह जानकारी में नहीं है.

जानें पूरा मामला

20 मई को छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में भीषण हादसा हुआ था. यहां दर्दनाक सड़क हादसे में 19 लोगों की जान चली गई थी. यह हादसा उस समय हुआ था, जब एक पिअपक करीब 35 मजदूरों को लेकर आ रही था और बाहपानी इलाके में खाई में पलट गई. मृतकों में अधिक महिला शामिल थी।

Latest news
Related news