Tuesday, June 18, 2024

छत्तीसगढ़ में जमकर वायरल हो रहा शादी का ये कार्ड, जानने के लिए उठानी पड़ेगी डिक्शनरी

रायपुर: देश भर में शादी-विवाह का सीजन चल रहा है। जगह-जगह पर सहनाई और बाजे की आवाज सुनने को मिल रही है। ऐसे में मेहमानों को बुलाने के लिए लोग निमंत्रण कार्ड बटवाते हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ में एक शादी कार्ड जमकर वायरल हो रहा है। इसमें कुछ ऐसा लिखा है, जो चर्चा का विषय बना हुआ है। तो चलिए ऐसे में जानते है कि कार्ड में ऐसा क्या लिखा, जो बना चर्चा का विषय।

शादियों को लेकर लोगों में अलग क्रेज

देश भर में शादियों को लेकर लोगों में अलग ही लेवल का क्रेज होता है। इसका एक उदाहरण है छत्तीसगढ़ के जांजगीर चंपा में निमंत्रण के लिए भेजा गया एक कार्ड। इस कार्ड में छत्तीसगढ़ी परंपरा को बढ़ावा देते हुए जिले के ताल देवरी निवासी राम गोपाल ने
ने अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए निमंत्रण कार्ड को ठेठ राजकीय भाषा में छपवाया है। इस वजह से यह कार्ड चर्चे का विषय बना हुआ है। इस दौरान गांव वालों ने राम गोपाल को इस काम के लिए सराहा भी है।

शादी कार्ड में लिखी है ये बातें

बता दें कि शादी कार्ड की शुरुआत श्री गणेश के साथ शुरू होती है। आपने देखा भी होगा कार्ड में लिखा होता है ‘प्रथम निमंत्रण आपको गौरी पुत्र गणेश, रिद्धि सिद्धि सहित पधारो ब्रह्मा विष्णु महेश’ इसके बदले लिखा है. ‘पहली नेवता आप मन ला, गउरी पुत्र गणेशरिद्धि-सिद्धि ला संग मा लाहू, सिरी ब्रह्मा विष्णु महेश’ इसके बाद इस स्पेशल निमंत्रण कार्ड में लिखा है कि मोर मयारू हमर कुल देवता अउ पुरखा मन के असीस से हमर अंगना मा परदेसी मया बधाय बर उछाह मंगल के सुघर कारज मड़ाय हावन जेमा हिरदे के गुरतूर भाव ले ताहू ला नेवता नेवतन जेमा हमर छत्तीसगढ़ी में दूल्हा और दुल्हन के नाम के आगे दुलरवा बाबूऔर दुलउरीन नोनी लिखा हुआ है. बच्चों के नाम के पहले लिखा है ‘अंगना के किलकारी’ मम्मी पापा और दादी के नाम के बाद दाई, बाबू और अम्मा लिखा हुआ है.

Latest news
Related news