Sunday, June 16, 2024

महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप घोटाले में 2 लोग गिरफ्तार, छत्तीसगढ़ जांच एजेंसी ने लिया एक्शन

रायपुर। महादेव ऑनलाइन गेमिंग और सट्टेबाजी एप्लिकेशन के कथित अवैध संचालन के सिलसिले में 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इसमें कथित तौर पर वरिष्ठ राजनेता और राज्य के नौकरशाह शामिल थे। यह जानकारी छत्तीसगढ़ के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने बुधवार को दी। एसीबी/ईओडब्ल्यू ने एक बयान में कहा कि आरोपी राहुल वक्ते दिल्ली में था, जबकि सह-आरोपी रितेश यादव को गोवा से गिरफ्तार किया गया है।

9 लोगों को किया गया गिरफ्तार

एजेंसी को 4 मार्च को ईडी द्वारा सौंपी गई एक रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज करने के बाद हुई है. ED करीब एक साल से इस घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग के पहलू जांच कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि दोनों आरोपियों को बुधवार को रायपुर की एक अदालत में पेश किया गया. वहां से उन्हें 6 दिनों के लिए एसीबी/ईओडब्ल्यू की हिरासत में भेज दिया गया है. इसके अलावा, ईडी ने अपनी जांच के तहत अब तक नौ लोगों को अलग से गिरफ्तार किया है. 

अगस्त से फरार थे आरोपी

बयान में कहा गया है कि राज्य पुलिस के एक सहायक उप-निरीक्षक चंद्रभूषण वर्मा को कथित घोटाले में ED द्वारा गिरफ्तार किया गया था. दोनों आरोपी पिछले साल अगस्त महीने से नदारद थे। राहुल वक्ते कथित तौर पर हवाला (फंड ट्रांसफर के लिए अवैध चैनल) के माध्यम से मिलने वाले पैसों को वर्मा तक पहुंचाने में लगा हुआ था. राहुल वक्ते के नाम पर 3 कंपनियां रजिस्टर थीं, जिनमें भारी मात्रा में नकदी जमा की गई थी. यादव कथित तौर पर ONLINE सट्टेबाजी ऐप (महादेव) के पैनल का संचालन कर रहा था और हवाला के माध्यम से पैसे मिलने के बाद वर्मा और एक अन्य व्यक्ति सतीश चंद्राकर की मदद कर रहा था. इसके साथ ही 43 लाख रुपये की हवाला राशि जब्त कर ली गई है. चंद्राकर को ईडी ने पिछले साल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है

इन लोगों को बनाया गया है आरोपी 

राज्य की एसीबी ने पुणे पुलिस के सहयोग से वहां छापेमारी की और सट्टेबाजी APP पैनल के संचालन में शामिल आठ लोगों को बयान में कहा गया है कि पुणे पुलिस उनके खिलाफ आगे की कार्रवाई कर रही है. एसीबी/ईओडब्ल्यू ने कथित महादेव सट्टेबाजी ऐप घोटाले में दर्ज अपनी एफआईआर में कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ-साथ ऐप के प्रमोटर्स रवि उप्पल, शुभम सोनी, सौरभ चंद्राकर और अनिल कुमार अग्रवाल के अलावा 14 अन्य को आरोपी बनाया है।ACB/ EOW ने पहले बताया था कि आईपीसी की धारा 120 बी (आपराधिक साजिश), 420 (धोखाधड़ी), 471 (जाली दस्तावेज को असली के रूप में इस्तेमाल करना) और अन्य तथा भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) अधिनियम, 2018 की धारा 7 और 11 के तहत मामला दर्ज किया था.

क्या है महादेव बेटिंग APP?

महादेव बेटिंग APP ऑनलाइन सट्टेबाजी के लिए बनाया गया एक APP है. इस पर LOG-IN करने वाले यूजर कार्ड गेम्स, चांस गेम्स, पोकर जैसे LIVE GAME खेलते थे. इतना ही नहीं इस ऐप के जरिए क्रिकेट, टेनिस, बैडमिंटन, फुटबॉल जैसे खेलों में सट्टेबाजी भी की जाती है. इसके अलावा इसी ऐप से चुनावों में अवैध सट्टेबाजी भी की जाती थी. अवैध सट्टे के नटवर्क के जरिए MAHADAV BETTING APP का जाल पूरे देश में तेजी से फैला और इसमें सबसे ज्यादा खाते छत्तीसगढ़ में खुले।

Latest news
Related news