Saturday, July 20, 2024

Chhattisgarh Election 2023: छत्तीसगढ़ में बनेगा इतिहास, महिलाएं संभालेंगी चुनावी कार्यभार

रायपुर। छत्तीसगढ़ में दो चरणों में मतदान कराए जाएंगे। पहले चरण का मतदान 7 नवंबर और दूसरे चरण का मतदान 17 नवंबर को होगा। राज्य में नामांकन भरने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। बता दें कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार निर्वाचन का पूरा काम महिलाओं को सौंपा गया है। इस बार मतदान पर्ची चेक करने से लेकर उंगली में स्याही लगाने और रजिस्टर में हस्ताक्षर के साथ वोटिंग करवाने तक का सारा काम महिलाएं ही करती दिखाई देंगी। इतना ही नहीं ड्यूटी में तैनात सुरक्षाबल भी महिलाएं ही रहेंगी। इस बार विधानसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ नया इतिहास रचने वाला है।

कार्यभार संभालेंगी महिलाएं

बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में दो विधानसभा क्षेत्र महिलाओं के जिम्मे होगा। इस क्षेत्र में टॉप से लेकर यूनिट तक निर्वाचन का सारा कार्य महिलाओं को सौंपा जाएगा। यह विधानसभा क्षेत्र रायपुर उत्तर और पश्चिम है। बता दें कि यहां उत्तर विधानसभा में 18 सेक्टर हैं। जिसमें सेक्टर एक में महिला अधिकारी होंगी। वहीं कुल 265 मतदान केन्द्रों में 1060 महिला अधिकारियों को कार्य भार देखना होगा। यहां पर 265 बूथ में पीठासीन अधिकारी, मतदान क्रमांक एक,दो, तीन में सभी जगहों पर महिला अधिकारी-कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा। इस दौरान यहां कुल 265 पीठासीन अधिकारी और 795 मतदान अधिकारी रहेंगे।

महिला पुलिस बलों की तैनाती

इसके अलावा इस बार सबसे खास बात यह है कि इस विधानसभा की मुख्य ऑब्जर्वर एक महिला आईएएस अधिकारी विमला आर हैं। इतना ही नहीं उनकी लाईजिनिंग ऑफिसर भी महिला हैं। यहां पर अधिक से अधिक महिला पुलिस बलों की तैनाती की जा रही है। पश्चिम विधानसभा को भी पूरी तरह से महिला अधिकारियों के जिम्मे सौंपने की तैयारी है।

महिलाओं को मुहैया कराई जाएंगी सुविधाएं

दरअसल यहां 15 सेक्टर और 201 मतदान केन्द्र हैं। यहां एक सेक्टर में महिला अधिकारी होंगी। इसके साथ ही बूथों में 804 महिला अधिकारी होंगी, जिनमें 201 पीठासीन अधिकारी और 603 मतदान अधिकारी होंगी। वहीं इसे लेकर रायपुर कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ सर्वेश्वर भुरे ने बताया कि जिले के इस बार दो विधानसभाओं उत्तर और पश्चिम में निर्वाचन कार्य में पूरी तरह से महिलाओं की तैनाती की जा रही है। डॉ सर्वेश्वर भुरे ने कहा कि महिला अधिकारी कर्मचारी हमेशा अपनी ज़िम्मेदारियों को गंभीरता से पूरा करती हैं। उन्होंने कहा कि यह सराहनीय है। यह प्रयास किया जा रहा है कि उनकी ड्यूटी मतदान केन्द्र के साथ जहां भी लगाई जाएगी वहां पर उनके लिए मूलभूत सुविधा मुहैया कराई जाएगी, ताकि उन्हे कोई तकलीफ का सामना न करना पड़े।

कहां कितने मतदान केंद्र ?

बता दें कि 26 और 27 अक्टूबर को मतदान दलों का प्रशिक्षण किया गया था। यहां मास्टर ट्रेनर द्वारा निर्वाचन कार्य में शामिल महिला कर्मियों को प्रशिक्षण भी दिया गया। इस बार चुनाव में जिले के सातों विधानसभा में संगवारी मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। इस दौरान धरसींवा विधानसभा क्रमांक-47 में 10, रायपुर ग्रामीण विधानसभा क्रमांक-48 में 10, रायपुर पश्चिम विधानसभा-49 में 265, रायपुर उत्तर विधानसभा क्रमांक-50 में 201, रायपुर दक्षिण विधानसभा क्रमांक-51 में 10, आरंग विधानसभा क्रमांक-52 में 10, अभनपुर विधानसभा क्रमांक-53 में 10 संगवारी मतदान केन्द्र हैं।

Latest news
Related news